The School Weekly 15th August 2022

News & Events

Saturday, 13th August 2022: Parent Teacher Meeting was organized for Class II-XII, about 70% of parents attended the meeting to meet the educators to discuss their child's progress.

Celebrating Azadi Ka Amrit Mahotsav
Five days before the prestigious day of Independence Day, a contingent of students practiced for the ID Parade. They went for practice at High School, Bali. A great day was spent on the occasion of Amrit Mahotsav as we completed 75 years of independence. Class IX-XII students went to High Secondary School, Bali, and other schools nearby. Everyone paid homage to all the freedom fighters for their sacrifices. Currently, our country is far more developed and modern as compared to that time. Patriotic songs were sung and speeches were delivered by SDM Ma’am to motivate us to do something for our country as this land belongs to us and we belong to this land. Youth is the future of our country and we are the only ones who can take the country to its peak. This was a memorable moment for all of us that cannot be forgotten till our last breath.
Jai Hind
Harshit Rajpurohit/ XII
Proud To Be An Indian



India is celebrating 75 years of Independence as Azadi ka Amrit Mahotsav. The theme for 75th Independence, 2022 is Nation First, Always First. All the people of India are requested to hoist the National flag on their houses. Azadi ka Amrit Mahotsav is celebrated to recognize and respect the freedom fighters. On Friday, 12th August students from Class II to VIII sang patriotic songs celebrating Azadi Ka Amrit Mahotsav. Throughout the week teachers and students gave speeches on Kranti Diwas, Quit India Movement, Swadeshi Movement and talked about freedom fighters like Subhash Chandra Bose, Bhagat Singh, Rani Laxmi Bai, Sukh Dev, Bal Gangadhar Tilak, etc. Students of Classes IX to XII went to High Secondary School Bali to join the mass celebrations of Azadi ka Amrita Mahotsav where all the students participated in singing patriotic songs.
Meenakshi Sirvi/ XI
ATL Activity - Ideation

We all are surrounded by innovative ideas around us. Each and everything we use is somewhere a solution to problems faced by people. The very first stage of any invention is Ideation. It is the process to focus on problems that need some solution. Our Students in Class 6th, 7th & 8th were asked to brainstorm on Problems they find in their surroundings. Everyone shared problems they face in their area such as Home, School, Agricultural Land, etc, These ideas will be further filtered and will be selected for the Annual Exhibition
आजादी के अमृत महोत्सव
आजादी के अमृत महोत्सव के बारे में कुछ शब्द व्यक्त करना चाहता हूं। सबसे पहले आप सभी को इस बेहद शुभ अवसर की बहुत-बहुत शुभकामनाएं। दिलों में बसा एक सपना था, आजादी के मतवालों का जश्न है, भारत के आजाद 75 सालों का। 15 अगस्त 2022 को हमारे भारत देश की आजादी के 75 साल पूरे हो जाएंगे। आजादी के 75 साल पूरे होने के 75 सप्ताह पूर्व हमारे देश की सरकार ने आजादी के अमृत महोत्सव की शुरुआत कर दी है। इस महोत्सव का आगाज गुजरात की साबरमती से किया गया है। यहीं से महात्मा गांधी के नेतृत्व में दांडी मार्च की शुरुआत की गई थी। इन 75 सप्ताह में देश के विभिन्न राज्यों में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया और आजादी का यह जश्न मनाया जाएगा। आजादी के जश्न को मनाते हुए हम भारतवासी अपने इतिहास के पन्नों को एक बार फिर से पलटेंगे और स्वतंत्रता संग्राम के दौरान हुई सभी महत्वपूर्ण घटनाओं, आंदोलनों और महान क्रांतिकारियों के विषय में विस्तार से जानेंगे। इस महोत्सव के कारण हम सभी को यह सुनहरा मौका मिला है कि हम आजादी के उन रखवालों के बारे में भी जान सकेंगे, जो इतिहास में ही कई खोए बैठे हैं। हमारे माननीय प्रधानमंत्री महोदय का यह प्रयास बेहद सराहनीय है। इस महोत्सव को जन उत्सव बनाने की उनकी परिकल्पना वास्तव में प्रशंसनीय है। आजादी के इस उत्सव के आधार स्तंभ यह है कि भारत का हर नागरिक इस महोत्सव के दौरान स्वतंत्रता संग्राम की कही, अनकही सभी घटनाओं को जाने। इन 75 वर्षों पर विचार करें इस दौरान देश की उपलब्धियां, देश द्वारा उठाए गए महत्वपूर्ण कदमों पर विचार करें और देश 75 नए संकल्प लें। यह उत्सव जन जन का उत्सव है, जन जन की भागीदारी है इसमें, 130 करोड़ जनता इस उत्सव में शामिल होगी, यह बेहद सम्मानजनक बात है। हमारे देश की युवा पीढ़ी और आगामी पीढ़ी देश के बच्चे इस दौरान देश के इतिहास को जानेंगे कुछ नया सीखेंगे और भविष्य को बेहतर बनाने हेतु विचार करेंगे। यह हम सभी देशवासियों के लिए उत्साह और सम्मान का अवसर है। हम सभी को आजादी के इस महोत्सव में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर देश के महान इतिहास को जानना चाहिए, स्वतंत्रता सेनानियों पर गर्व महसूस करना चाहिए और हमेशा तन मन धन से अपनी मातृभूमि की रक्षा करने का वचन लेना चाहिए।
प्रियांश सोनी / IX
15 अगस्त 
15 अगस्त का दिन है आया
लाल किले पर तिरंगा है फहराना
ये शुभ दिन है हम भारतीयों के जीवन का
इस दिन देश आजाद हुआ था
न जाने कितने शहीदों के बलिदानों पर
हमने आजादी को पाया था
भारत माता की आजादी की खातिर
वीरों ने अपना सर्वश लुटाया था
उनके बलिदानों की खातिर ही
भारत को नई पहचान दिलानी है
खुद को बनाकर एक विकसित राष्ट्र
एक नया इतिहास बनाना है
जाति-पाति, ऊँच-नीच के भेदभाव को मिटाना है
हर भारतवासी को अब अखंडता का पाठ है सिखाना
वीर शहीदों की कुर्बानियों को अब व्यर्थ नहीं है गवाना
राष्ट्र का उज्ज्वल भविष्य बनाकर, आजादी का अर्थ है समझाना।
सिमरन सोनी / Vll
Music is life
Music is a pleasing arrangement and flow of sounds in the air. It is also an art or skill that musicians possess and hence they are capable of giving a musical performance to the audience. Music is a vital part of different moments of human life. It spreads happiness and joy in a person’s life. Music is the soul of life and gives immense peace to us. In the words of William Shakespeare, “If music is the food of love, play on, Give me excess of it; thus, Music helps us in connecting with our souls or real self. 
Music is a pleasant sound that is a combination of melodies and harmony and which soothes you. Music may also refer to the art of composing such pleasant sounds with the help of various musical instruments. A person who knows music is a musician.
The music consists of Sargam, Ragas, Taals, etc. Music is not only what is composed by men but also exists in nature. Have you ever heard the sound of a waterfall or a flowing river? Could you hear music there? Thus, everything in harmony has music. Here, I would like to quote a line one of the greatest musicians said, “ Music is not in the notes but in the silence between us” last but not least I would like to end my speech with 2 quotes. "Music is like a dream, one that I can't hear. '' Without music, life would be a mistake.
Leesa Suthar / IX
आजादी
आजादी की कभी शाम ना होने देंगे, शहीदों की कुर्बानी बदनाम ना होने देंगे बची हो जो एक बूंद  लहू की भारत माता का आंचल नीलाम ना होने देंगे।
आजादी का मूल नहीं रहा जब खून की नदियां बही थी, तब यह दिन आया है। यह शुक्र मनाओ वीरों का कि हम आजाद भारत में पैदा हुए और आजाद  भारत में ही मरेंगे। अरे याद करो जनरल डायर को जिसकी गोलियों से गूंज उठा था जलियांवाला बाग। अगर तुमने विधवा वीरांगनाओं की आंखों में देखा होता तो तुम्हें आजादी की ज्वाला दिखती आजादी का असली मतलब पता चलता। एक बार भगत सिंह के पिता ने भगत सिंह को जमीन में कुछ बोते देखा तो उन्होंने पूछा - भगत तू क्या रहा है ? भगत सिंह बोले बंदूक  बो रहा हूं। तो पिता ने पूछा क्यों ?तो भगत का जवाब सुनिएगा - मैं एक बंदूक बोऊंगा तो लाखों बंदूकें निकलेगी, फिर हम इन फिरंगियों को भारत में एक पल नहीं रहने देंगे। वही छोटा सा भगत आजादी की चिंगारी से बड़ा होकर आजादी की प्रचंड ज्वाला बना। सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है देखना है जोर कितना बाजुए कातिल में है। इस भारत मां ने ऐसे बेटों को जन्म दिया है जिनके नामों से भारत का इतिहास भरा पड़ा है। हम भारतीय स्वाभिमान से जीने वाले लोग हैं, एलिजाबेथ जैसे चोर नहीं हमें गर्व है कि हम भारतीय हैं। इसी के साथ इस धरती की एक और बेटे के कुछ शब्द याद आते हैं। यह अटल जी ने कहा है भारत एक भूमि का टुकड़ा नहीं है, जीता जागता राष्ट्रपुरुष है, यह तर्पण की भूमि है यह अर्पण की भूमि है। यह बंधन की धरती है, अभिनंदन की धरती है। यहां की नदी नदी हमारे लिए गंगा है, यहां का कंकर कंकर हमारे लिए शंकर है। जिएंगे तो इस भारत के लिए, मरेंगे तो इस भारत के लिए और मरने के बाद भी गंगाजल में बहती हुई हमारी अस्थियों को कोई कान लगाकर सुनेगा तो सिर्फ एक ही आवाज आएगी भारत माता की जय।
पुष्पेंद्र सिंह / X
Success
The journey of 1000 miles begins with one single step. 
Everyone thinks that & it is very hard to get success. Yes, it is hard; but it's not impossible. Everyone who has achieved success is human like us; they too have two hands, and two legs I mean the same body as us. they're not superpowers. See, hard things are impossible, just they require their effort than the normal ones. Everyone wants success, and no one wants pain, but how can you see a rainbow, without rain? The simple formula to succeed is to be determined and have trust in yourself. People just see others and that is why others succeed, they do not!
The approach makes a major difference. An ordinary man would just speak that he'll be successful one day, but the one who needs to be successful desperately works for it. Some dream for success, and some work for it. That is the point aspirant and achiever makes the difference. Bruce lee once said I'm not afraid of men who have practiced 10,000 kicks in one time, But I'm afraid of the men who have practiced one kick 10,000 times. The practice also plays a major role in this journey.  The more you practice, the more chances of perfection. Also, we need to have patience as "It takes time to be the prime." So, success is the destination that you reach. You travel through ups and downs with smiles & frowns. There may be hurdles in your way but success is here to raise you higher. People's opinion doesn't matter, they put you down but always remember: "When they throw stones at you, use them to build your Empire!
Seema Choudhary/ XII

Volume No. 523 Published by The Editorial Board: Mr. Jitendra Suthar, Ms. Jyoti Sain, Ms. Harshita Suthar, Mr. Chatra Ram Choudhary, Jatin Tripash, Pushpendra Singh Ranawat, Yashwant Singh Sonigra, Mohammad Anas.

The School Weekly

Story of The Fabindia School by Bharti Rao