The School Weekly 28th March 2022

 News & Events
Final Assessments have finished for Primary, Middle and Senior Sections,  PTM has been scheduled on Friday; 1st April 2022. New Session will commence from Monday, 4th April 2022.
बचपन
बचपन किसी के भी जीवन का सबसे मजेदार और यादगार समय होता है। यह जीवन का पहला चरण है जिसका हम जिस तरह से आनंद लेते हैं उसका आनंद लेते हैं। इसके अलावा, यह वह समय है जो भविष्य को आकार देता है। माता-पिता अपने बच्चों और बच्चों के लिए भी प्यार और देखभाल करते हैं। इसके अलावा, यह जीवन का स्वर्णिम काल है जिसमें हम बच्चों को सब कुछ सिखा सकते हैं।बचपन की यादें अंततः जीवन भर की याद बन जाती हैं जो हमेशा हमारे चेहरे पर मुस्कान लाती हैं। बचपन की असल कीमत बड़ों को ही पता होती है क्योंकि बच्चे इन बातों को नहीं समझते।इसके अलावा, बच्चों को कोई चिंता नहीं है, कोई तनाव नहीं है, और वे सांसारिक जीवन की गंदगी से मुक्त हैं। साथ ही, जब कोई व्यक्ति अपने बचपन की यादें एकत्र करता है तो वे एक सुखद अनुभूति देते हैं।इसके अलावा, बुरी यादें व्यक्ति को जीवन भर परेशान करती हैं। इसके अलावा, जैसे-जैसे हम बड़े होते हैं, हम अपने बचपन के प्रति अधिक लगाव महसूस करते हैं और हम उन दिनों को वापस पाना चाहते हैं, लेकिन हम ऐसा नहीं कर पाते। इसलिए बहुत से लोग कहते हैं कि 'समय न तो मित्र है और न ही शत्रु'। क्योंकि जो समय चला गया वह वापस नहीं आ सकता और न ही हमारा बचपन वापस आ सकता है। यह एक ऐसा समय है जिसकी कई कवि और लेखक अपनी रचनाओं में प्रशंसा करते हैं।
बचपन का महत्व बच्चों के लिए इसका कोई महत्व नहीं है लेकिन अगर आप किसी वयस्क से पूछें तो यह बहुत महत्वपूर्ण है। इसके अलावा, यह एक ऐसा समय है जब बच्चों के नैतिक और सामाजिक चरित्र का विकास होता है। जीवन के इस पड़ाव में हम किसी की मानसिकता को आसानी से फिर से तैयार कर सकते हैं।साथ ही यह समझना बहुत जरूरी है कि इस समय में बच्चों की मानसिकता को आसानी से बदला जा सकता है। इसलिए हमें अपने बच्चों पर कड़ी नजर रखनी होगी।
बचपन में बिना किसी चिंता के अपने जीवन का आनंद लेना चाहिए। यह एक ऐसा समय है जिसमें व्यक्ति को अपने आहार, स्वास्थ्य और रोग प्रतिरोधक क्षमता का ध्यान रखना चाहिए। इसके अलावा, बच्चों को साफ-सुथरा रहना, खाना, पढ़ना, सोना, खेलना और नियमित रूप से व्यायाम करना सिखाया जाना चाहिए और ये चीजें बच्चे की आदतों में होनी चाहिए।इसके अलावा, हमें बच्चों को पढ़ने, लिखने जैसी उत्पादक आदतों को शुरू करने के लिए प्रभावित करने का प्रयास करना चाहिए जो उन्हें बाद के जीवन में मदद करनी चाहिए। लेकिन वे जो किताबें पढ़ते हैं और जो लिखते हैं, उन्हें माता-पिता को ध्यान से देखना चाहिए।
बच्चे कलियों की तरह होते हैं, वे बिना किसी भेदभाव के सभी का समान रूप से ख्याल रखते हैं। साथ ही, वे मददगार स्वभाव के होते हैं और अपने आसपास सभी की मदद करते हैं।इसके अलावा, वे सभी को मानवता का पाठ पढ़ाते हैं कि वे इस दुनिया की व्यस्त जीवन शैली में भूल गए हैं। इसके अलावा, ये बच्चे देश का भविष्य हैं और यदि वे ठीक से विकसित नहीं होते हैं तो भविष्य में वे राष्ट्र के विकास में कैसे मदद कर सकते हैं।
निष्कर्ष रूप में हम कह सकते हैं कि बचपन ही वह समय होता है जो हमारे वयस्कता को विशेष बनाता है। इसके अलावा, बच्चे मिट्टी के बर्तनों की तरह होते हैं जिन्हें आप अपनी पसंद के अनुसार आकार दे सकते हैं। साथ ही यह उनकी मासूमियत और मददगार स्वभाव सभी को मानवता का संदेश देती है।
ओमप्रकाश मोर्बशा / Vlll
विश्वास
विश्वास बहुत अच्छी चीज़ है। विश्वास को बनाने से भी कठिन काम विश्वास को बनाए रखना है। मैंने भी अपने मित्र पर विश्वास किया था और वह उस विश्वास पर   खरा उतरा । एक बार मेरा किसी लड़के के साथ झगड़ा हो गया था। मैंने उस लड़के के बारे मे अपने मित्र को कुछ बात बताई । मेरा मित्र उस लड़के का बहुत अच्छा दोस्त था तब भी मेरे मित्र नए उसे कुछ नहीं बताया । उस लड़के ने मेरे मित्र  से पूछा फिर भी मेरे मित्र ने उसे कुछ नहीं कहा ।  उस दिन मैंने विश्वास को महसूस किया। वह दिन मेरे लिए बहुत अच्छा दिन था । इस प्रकार से वह मेरे विश्वास् पर खरा उतरा ।
अर्जुन वैष्णव/ XA
Trust
Experience of an incident in my life made me realize what trust is. A few weeks ago, I went to my hometown to meet my joint family and there I met my cousin, and we decided to watch a web series together in the summer vacations. But she broke my trust because when I went there in the vacations, she told me that she has already watched 2 seasons of that series. That day, I felt truly betrayed and broken as if someone had left me alone in a dark forest and I had no one to rely on. Being trusted is a great responsibility and when you break someone’s trust, you leave them with a terrible feeling of hurt, regret and loneliness.           
Bhumika Nimbark / X
My Experience of Trust
My trust was broken by someone whom I trusted more than anyone else; more than any other friends. The person was my best friend, who changed his mindset for me by listening to others. It hurt like a big stone was put on my heart. For a few days, I couldn't understand what to do. That person did not even bother about me. After a few days, I tried to talk and made that person understand by giving my all efforts. The person started talking but as we all know that once a thread is broken, it can be joined again, but a knot is left for lifetime. Here the thread was friendship. I don't talk to that person now because the person doesn't even bother about me as I am no more important to him. This is not ego, but if the person doesn't want to talk then I will not force the person to talk to me. All this happened, but the person is still in my heart and for me, still my best friend. 
Mangilal Dewasi / X
Friendship
Friendship is important in life because it teaches us a great deal about life. We learn many lessons from friendship which we won't find anywhere else. You learn to love someone other than your family. You know how to be yourself in front of friends. Friendship never leaves us in bad times. You learn how to understand people and trust others. Your real friends define you. Friends will always motivate you and cheer for you. They will take you on the right path and save you from any evil. Friendship also teaches you a lot about loyalty. It helps us to become loyal and get loyalty in us. Moreover, friendship makes us stronger. It tests us and helps us to grow. It gives support to be a good and great people. 
True friendship lies in true friends only.
Amrit Sirvi / VIII

TRUST
Trust means to believe in someone . I trust my friend a lot . When no one helps me for my  exam preparation, she helps me and motivates me and brings my confident level up. By her motivation I topped my exam. If she wouldn't bring my confident level up, I would not have been able to pass my exam. I am thankful to her that she trusts me.  
Harshita Rajpurohit/ X
TRUST
For me trust is like a mirror once if it's broken by anyone it can't be replaced again as how it was first. I had the best friend since my childhood, we used to share every silly moments and lived in the same apartment on the same floor. We celebrated every festival and had many tips together. She promised me that whatever the situation will be in future or present, we will be best friends forever. After few months such circumstances came that her family had to shift to another place and I also came to Rajasthan for my studies. There was no more contact between us for two years. I got her contact number from one of my friends and called her that day. On seeing her reaction I thought my value is not much anymore now. She told me that she has made many new friends, and she has two best friends also. At that time my trust was broken and I felt like the girl who promised me to stay my best friend forever doesn't value me now. She broke my trust. Her priorities and feelings had changed. My friendship had ended because of my bestfriend who had got bored and found someone better to replace me. And people wonder why I have trust issues. Friendship was the reason for me to believe in the world forever. A true friend always is with you and never leaves you in any difficult phrase of your life. I felt lonely that day and realized that distance proves better how stronger the bonds are.
Lavishka Rathod X B 
   

Volume No. 509 Published by The Editorial Board: Mr Jitendra Suthar, Ms Swabhi Parmar, Ms Jyoti Sain, Mr Arvind Singh, Jatin Tripash, Pushpendra Singh Ranawat, Tamanna Solanki, Kritika Rajpurohit, Kanak Gehlot, Kunal Rajpurohit, Harshit Rajpurohit, Ronak Deora, Mohammad Anas.

The School Weekly

Story of The Fabindia School by Bharti Rao