The School Weekly 9th May 2022

 NEWS AND EVENTS 

Learning by doing at Pre-Primary Section 
Yoga, frog race, playing in the soil, drawing, painting and loads of fun. 

                           



Mother’s Day Celebration

On the occasion of Mother’s Day students of Primary Section made cards for their Mom’s.


Click on the link to watch Anshika Choudhary's dance as a dedication to all the mothers.



                             Unit Test-I is in progress since 4th May for Classes I to X and XII.


Inter House Matches

इस सप्ताह में हमारे विद्यालय में इंटर हाउस क्रिकेट प्रतियोगिता आयोजित की गई ।जिसमें छात्र और छात्राओं के अलग-अलग दल बनाए गए ।इनमें प्रत्येक हाउस के विद्यार्थियों ने हर्षोल्लास से भाग लिया। जिसमें मिडिल सेक्शन की छात्राओं में प्रथम स्थान-ध्यानचंद हाउस
द्वितीय स्थान -गांधी हाउस
तृतीय स्थान- टैरेसा हाउस ने प्राप्त किया। इसी प्रकार छात्रों में 
प्रथम स्थान -रमन हाउस
 द्वितीय स्थान- टैरेसा हाउस 
तृतीय स्थान- ध्यानचंद हाउस ने प्राप्त किया।
Inter-House Cricket Tournament was organized for Senior Section. Everyone participated enthusiastically. The winners of Inter-House Cricket Tournament are as follows:-
Boys: I Teresa House
      II Raman House
Girls: I Gandhi House
       II Raman House
       III Dhyanchand House
Certificates were distributed among the winning team.




मातृ दिवस
माॅं यह शब्द बड़ा अनमोल है। माॅं शब्द ही नहीं ,बल्कि हमारे जीने का आधार है। मातृ दिवस हर साल माॅं और उसके मातृत्व को सम्मान तथा आदर देने के लिए मनाया जाता है। इसे हर वर्ष मई महीने के दूसरे रविवार को मनाया जाता है। माॅं के बिना जीवन जीना बहुत मुश्किल है। सुबह माॅं की आवाज ना सुन लो तब तक ऐसा लगता है कि सुबह हुई ही नहीं या फिर लगता है कि आज रविवार है। माॅं
और भगवान में कौन बड़ा है यह सोचना बहुत मुश्किल है। किसी के भी जीवन में एक ,माॅं सर्वश्रेष्ठ और सबसे महत्वपूर्ण होती है क्योंकि उनके जैसा सच्चा और वास्तविक नहीं हो सकता। मुझे आज तक पता नहीं चल पाया है कि जो मेरे मन में चल रहा होता है कि वह मेरी माॅं को कैसे पता चल जाता है।
जिंदगी की पहली teacher माॅं
जिंदगी की पहली friend माॅं
जिंदगी भी माॅं है क्योंकि
जिंदगी देने वाली भी माॅं है।।
"माॅं"की एक दुआ जिंदगी बना देगी खुद रोएगी मगर तुम्हें हॅंसा देगी कभी भूलकर भी ना माॅं को रुलाना क्योंकि -
-हजारों फूल चाहिए एक माला बनाने के लिए ,
-हजारों दीपक चाहिए आरती सजाने के लिए ,
-हजारों बूंद चाहिए समुंद्र बनाने के लिए ,
पर 'माॅं 'अकेले ही काफी है बच्चों की जिंदगी को स्वर्ग बनाने के लिए ।
धन्यवाद
 हर्षवर्धन 
 कक्षा VII

None other than a  Mother

I am incomplete without my mother.
Mother is an expression that expressed love for us,
Mother is a creature as innocent as dove,
Mother is nature,
Optimistic teacher,
She is loving, caring, beautiful by heart and successful creature,
Her heart is the wax,
That melts at room temperature,
Mother lends a helping hand, always to her child,
She is the flower that flourishes forever,
And a fragrance that spreads everywhere in the world,
In an icy cool manner,
Looking very mild.
Mother is the joy of a train, which makes you stop at success station.
She is the staircase
To get a good position.
Penning down a mother's portrait is a dare to some task, there is no blessings without her,
She is the one, who always stays in our tough time and in our prayers,
Mother is the peaceful shelter from the wind, rain.
None can be complete without her,
You may go and ask.
Thank you my dear mother for always there for me in my tough time
Another mother's day is here it brings joy and pleasure to my heart,
On this special day I want to mention that
I cannot give you costly gifts and as I have told you about this in early morning also,
No matter what I give you you are giving back much and much more, thank you for that,
I am giving you my heart where you planted a rose
The day when I was born,
From the first day to last day of my life my rose heart is yours only
Thank you for your loving, kindness, and the faith you still impart.
The heart of my rose gives you today 
Till the last day of my life I am going to give you this only
Happy Mother's Day to my dear mummy
Seema Choudhary/ XII Science

भारतीय किसान
भारत का किसान जो रोजाना सुबह सूरज उगने से पहले उठकर खेत जाता है। किसान द्वारा जो खेती की जाती है, उसमें उसकी मेहनत लगती है । क्योंकि बारिश की वजह से या फिर प्राकृतिक आपदा की वजह से नुकसान होने के चांस ज्यादा होते हैं। ऐसे में किसानो की मेहनत दांव पर लगी रहती है।हर किसान धरती की पूजा करता है। क्योंकि भारतीय किसान के लिए धरती एक माता समान है, जो उसके द्वारा हमें अन्न प्रदान करवाती है और इसी अन्न से देश के लोगों का पेट भरता है। उदाहरण के तौर पर यदि किसान अनाज नहीं उगाए , तो भारत में भूखमरी का संकट आ जाएगा। देश भर के हर शहरों में किसानो द्वारा एक शहर से दूसरे शहर तक अनाज भेजा जाता है । क्योंकि किसान कड़ी धूप , तेज ठंड में भी खेतों  में काम करके देश भर के लोगों के बारे में सोच कर फसल उगाने में लगे रहते हैं।  कोई भी व्यक्ति भूखा ना रहे सबको भोजन मिले । इसलिए हम सभी को किसानों का आदर , सम्मान करना चाहिए। क्योंकि हमारे लिए किसान  बहुत कुछ करते है। हमें भी किसानो की मदद करनी चाहिए।
बुध कंवर
कक्षा पंचम

मेरा सशक्त भारत
मेरे दिमाग में आता है कि कन्या भ्रूण हत्या बंद हो जाए आज हम इस 21वीं सदी में रहते हैं तब भी कन्या भ्रूण हत्या जैसे तुच्छ कार्य इस समाज में किए जाते हैं, तब इस देश के युवा को धिक्कार यह कहाँ का न्याय है कि एक नन्हे शिशु से दुनिया देखने का अधिकार छीन  लिया  जाए! क्या सोचता है इस देश का युवा उसी पर निर्भर करता है देश का भविष्य?
आज हमारे देश में साक्षरता दर 74% इसका मतलब 74%लोग पढ़ना और लिखना जानते है। मैं चाहता हूं कि इस देश का शिक्षा दर 100%  हो
आज 21वी सदी में भी कहा जाता है कि रात को लड़कियां बाहर नहीं जा सकती क्यों ? जिन लोगों ने मां-बाप को मजबूर किया यह सब कहने के लिए उन लोगों को घर पर रुकना चाहिए।
आज इस देश का युवा की सोच इतनी गिर चुकी है इसलिए निर्भया जैसी देश की बेटियों के साथ ऐसा हुआ था।
हर बार बताया जाता है कि हम पर कितने साल राज किया गया अरे राज केवल इसलिए कर पाए क्योंकि हम सहिष्णु थे। अगर भारत वसुधैव कुटुंबकम को नहीं मानता तो शायद आज अंतर्राष्ट्रीय भाषा हिंदी होती।
एक दिन मैंने अपने दोस्त से पूछा कि अगर एक रोड पर एक्सीडेंट होता है तो आप क्या करेंगे? जवाब सुनकर मुझे घृणा होती है, इस देश के युवा की सोच से जवाब क्या था आप जानते हैं, पहले मैं उसका धर्म जान लूँगा।धर्मवाद और जातिवाद एक ऐसा दलदल है जिसमें देश डूब रहा है। और युवा ही इसे निकाल सकता है, अगर युवा ही ऐसी सोच रखेगा तो मेरे हिसाब से भारत हजार साल पीछे चला जाएगा।
मैं भारत के लिए एक व्रत समझता हूं। जो शशक्तता की ओर बढ़ रहा है, जिसके चारों स्तंभ युवा पीढ़ी है और सारथी श्रीमान नरेंद्र मोदी।
मैं सशक्त भारत का लक्ष्य रखता हूं ना कि सपना क्योंकि सपने देखने के लिए होते हैं और लक्ष्य पूरे करने के लिए
अभी देश के युवा को तय करना है, जो दिल्ली में हो रहा है क्या वह सही है, जो कर्नाटक में हो रहा है क्या वह सही है, जो न्यूज़ चैनल के स्टूडियो में हो रहा है क्या वह सही है, सही या गलत यह सब इस देश के युवा को तय करना है।
पुष्पेंद्र सिंह राणावत


Many students fear the board exams and they are stressed. I suggest they shouldn't take too much tension and try the things which will make them relieve stress. During the time of Board Exams, sketching is my ultimate source of relief and I love to do this. But, along with this regular study is also necessary.
Thank You!
Riya Vaishnav / X A





Mera Bali
Bali Town is situated on the left bank of the Mithari River. King Sarubali Baldev won the land of Bali in a battle in 1240 AD and he crowned the area his royal capital, naming it Bali after himself. In 1608 AD King Bala Singh constructed the Fort of Bali to protect the city and a wall was built around the city edges to protect it from attack. The town planning is based on ancient geometrical, astrological and architectural laws. The fort currently houses the prison. The 850 years old Bol Majisa Temple which is 20 feet above the historical fort of Bali, is quite a sight to behold. 
Research By: Abhijeet Singh/XB

Volume No. 515 Published by The Editorial Board: Mr Jitendra Suthar, Ms Jyoti Sain, Mr Arvind Singh, Jatin Tripash, Pushpendra Singh Ranawat, Yashwant Singh Sonigra, Mohammad Anas.
 

The School Weekly

Story of The Fabindia School by Bharti Rao